• Tue. May 24th, 2022

How to boost your AdSense earnings

AdSense earnings - WP Lions

क्या आप गूगल एडसेंस (Google AdSense) के माध्यम से पैसे कमाने के लिए एक वेबसाइट शुरू करने की योजना बना रहें है या आप ये सोच रहे हैं कि अपनी गूगल एडसेंस की कमाई (Google AdSense earnings) कैसे बढ़ाएं? यदि हां, तो यह लेख जरूर पढ़िए।

यदि आपके ब्लॉग या वेबसाइट की कमाई का प्राथमिक स्रोत गूगल एडसेंस (Google AdSense) है तो यह प्रश्न आपको काफी व्यथित कर सकता है कि आखिर गूगल एडसेंस की कमाई को कैसे बढ़ाएं या अपनी ऐडसेंस कमाई को बढ़ाने के लिए अपनी साइट को एक उत्तम आकार में कैसे लाएं जिससे की यह गूगल एडसेंस की मूल आवश्यकताओं को पूरा कर सके? इस लेख में आज हम इसी विषय पर गहन चर्चा करेंगे और इस प्रश्न का वास्तविक उत्तर ढूंढने का प्रयाश करेंगे कि – How to boost your AdSense earnings?

4 Min – Read

आप इंटरनेट, अख़बारों या टेलीवीजनों पर यह अक्सर यह सुनते रहते होंगे कि – किसी नाम का एक व्यक्ति है जो अपनी ब्लॉगिंग से लाखों रुपये प्रति महीने कमाता है या कोई विशेष कंपनी है जो अपनी बेबसाइट के माध्यम से लाखों – करोङो रूपये कमा रही है। ये सब सुनने के बाद आप के मन में ये जरूर आता होगा कि क्या ये सब सच है ?

आप में से कई लोग या तो पेशेवर हैं या छात्र हैं जो इंटरनेट पर कुछ न कुछ लिखना चाहते है। कई लोग लिखते भी है। लेकिन उनमें से ये शायद बहुत कम लोगो को ही पता होता है कि लिखने का ये शौक उनको प्रतिमाह एक मोटी रकम दे सकता है। यदि आप प्रतिदिन 10 घंटे काम करते है और आप की सैलरी 30 हजार प्रति माह है और इसके विपरीत यदि आप प्रतिदिन दो घंटे लिखने में लगाते है और आप की सैलरी 50 हजार या एक लाख हो जाये तो यह पहले विकल्प से ज्यादा अच्छा क्यों नहीं है?

2 Min – Read

इंटरनेट, यूट्यूब, अख़बारों या टेलीविजनों पर यह देखकर कई लोग ब्लॉगिंग या अपनी वेबसाइट बनाने के लिए प्रेरित होते हैं। किन्तु बाद में वे पाते हैं कि शुरुआत में ज्यादा लागत लगाने (डोमेन, होस्टिंग खरीदने, और वेबसाइट डिजाइन करवाने इत्यादि जैसे प्रारंभिक खर्चे) के बाद इनकम नहीं हो पा रही है या आपके गूगल खाते में एडसेंस अर्निंग (AdSense earnings) बहुत कम हो रही है।

बहुत से ब्लॉगर अपने ब्लॉगिंग करियर में मेहनत या क्षमता में कमी के कारण असफल नहीं होते बल्कि उचित मार्गदर्शन या अनुभव की कमी के कारण होते हैं। यदि आप अपने ब्लॉग या वेबसाइट को बहुत अधिक समय दे रहे हैं, तो भी यह आपको अपनी साइट पर सकारात्मक प्रभाव देने की गारंटी नहीं देता है।

हालाँकि इस विषय में हमारा मानना यह है कि – यदि हाल ही में आपने, अपनी वेबसाइट या ब्लॉग को शुरू किया है तो कम अर्निंग (low earning) एक आम समस्या है क्योंकि शुरुआत में आपके पास कम व्यूज (views) या low traffic की वजह से आपकी वेबसाइट पर Low RPM होता है। इसलिए दूसरों की लाखो की कमाई देखकर परेशान न हो केवल अपने काम पर ध्यान दें।

3 Min – Read

गूगल एडसेंस (Google AdSense) पर आपकी अर्निंग्स बढ़ाने के लिए नीचे कुछ सुझाव दिए जा रहे है, ये उपाय सत-प्रतिशत प्रमाणित है और स्वयं गूगल द्वारा मान्य भी हैं। इन तरीकों के जरिये आप भी शुरुआत से ही अपने वेबसाइ या ब्लॉग को एक अनुकूल आकार और गुणवत्ता दे सकते है जिससे आपकी गूगल एडसेंस की कमाई (AdSense Earning) काफी हद तक बढ़ जाएगी।

1. विशिष्ट और महत्वपूर्ण लेख लिखें

शुरुआत में Google AdSense आपकी वेसाइट पर एड (Ads) दिखाने के लिए आपके एडसेंस खाते को अनुमति दे सकता है। लेकिन बाद में यदि आपके ब्लॉग या वेबसाइट में जरूरी लेखन सामग्री नहीं है तो आपकी वेबसाइट पर विजिटर्स की संख्या बहुत कम होगी। आप स्वयं लिखते-लिखते निराश हो जायेंगे।

इसलिए ऐसे विषयों पर प्रायः लेख लिखें जिन पर आपकी रूचि हो। आपका रुचिकर विषय होने पर आपको लिखने में ज्यादा आनंद आएगा और आप उसे ज्यादा अच्छी तरह भी लिख पाएंगे।
अच्छे से लिखे गए लेख (Content) लोगों को भी ज्यादा पसंद आयेंगें। साथ ही ऐसे विषयों पर लेख लिखे जिन्हें लोगों को ज्यादा जरूरत है या जिस बारे में लोग ज्यादा सर्च करते हैं। लोग किन विषयों पर ज्यादा सर्च करतें हैं यह जानने आप गूगल Keyword Planner का उपयोग कर सकते हैं।

2. लसदार वेबसाइट बनाये

आपकी वेबसाइट पर विजिट करने वाले शायद आपके एड (Ads) पर क्लिक न करें और वापस चले जाएं। उनके वापस चले जाने पर आपको संभावित कमाई (AdSense earnings) का नुकसान होगा इसलिए लसदार वेबसाइट बनाएं। लसदार वेबसाइट का मतलब ऐसी वेबसाइट से है जिसमें एक लेख पढ़ने के बाद विजिटर्स और 2-4 लेख पढ़ कर ही लौटें या गहराई में जाकर अधिक से अधिक पोस्ट पढ़ें। इसके लिए आपकी बेबसाईट का साफ-सुथरा दृश्य होना भी आवश्यक है।

हो सके यो पोस्ट की लिंक्स को साइडबार (Sidebar) में लगाएं इससे एक पोस्ट को पढ़ने वाले लोग दूसरे पोस्ट या अन्य सामग्री को भी पढेंगे इसके अलावा आपकी वेबसाइट पर कौन सा कंटेंट ज्यादा मशहूर है, किस पेज पर क्या टिप्पणियां (comments) की गई हैं यह सब जानने के लिए वे आपकी बेबसाईट पर ज्यादा समय व्यतीत करेंगे। वे अधिक आनंद का भी अनुभव करेंगे और आपकी बेबसाईट का बाउंस रेट (Bounce rate) भी कम होगा।

3. बार-बार आने का कारण दें

अपने विजिटर्स को आपकी बेबसाईट भूलने न दें। बेबसाईट के हेडर (Header), साइडबार (Sidebar), लेख के अंत में (end of content) और फूटर (footer) में विभिन्न चैनलों का उल्लेख करें और अपनी सब्सक्रिप्शन (Subscription) ईमेल डाले और अपने सोशल नेटवर्क्स का उल्लेख करना भी न भूले।

यदि विजिटर्स आपकी वेबसाइट को याद रखेंगे तो भविष्य में वे कभी न कभी आपकी बेबसाईट पर जरूर विजिट करेंगे और आपके एड (AdSense ads) पर ज्यादा क्लिक्स आने की संभावनाएं भी बढ़ जाएगी।

इसके अलावा आपके बेबसाईट पर रिटर्निंग विज़िटर्स (Returning visitors) बढ़ेंगे। इसे आपकी कमाई (AdSense Earnings) बढ़ने के साथ-साथ आप अपने विजिटर्स के साथ निष्ठावान रिश्ते (Loyal relationship) बना पाएंगे और आपको एक ब्रांड बनने में मदद मिलेगी।

4. विजिटर्स को एक बेहतर अनुभव दें

यदि आप एक वेबसाइट चला रहे हैं तो विजिटर्स का बुरा अनुभव (user experience) आपको बहुत दुखी कर सकता है। आप बहुत अच्छा लेख लिख सकते हैं किंतु यदि आपकी बेबसाईट मोबाईल डिवाइस पर लोड नही होती या बहुत धीमे लोड होती है तो आप अपने विजिटर्स को ग्राहक बनने या ऐड (ads) पर क्लिक करने से पहले ही खो देंगे।

इसलिए ये जरूरी है कि आप स्वयं कुछ साधारण टेस्ट कर यह सुनिश्चित करें कि आपकी वेबसाइट मोबाइल डिवाइस पर भी जल्दी और अच्छे से खुल रही है। और यदि वेबसाइट पर कोई तकनीकी समस्या है तो आप पहले उसे दूर करिये। वेबसाइट पर समान्य परीक्षण करने के लिए आप इस उपकरण Test my site with google का उपयोग कर सकते हैं।

दूसरी चीज यह भी आवश्यक है कि आप Google Analytics और Google Search Console पर भी साइन अप करें।

3 Min – Read

गूगल एनालिटिक्स (Google Analytics) आपको आपकी वेबसाइट पर ट्रैफिक स्तर पर नजर रखने में मदद करेगा साथ ही उनकी गतिविधियों और व्यवहार का भी आकलन करने में सहायक होगा । विजिटर्स की गतिविधियों का विश्लेषण करने के बाद आप अपनी वेबसाइट में वांछित बदलाव कर सकते हैं।

इसी प्रकार Google Search Console की मदद से आप अपने वेबसाइट के सकारात्मक या नकारात्मक प्रदर्शन (Performance) की परिवीक्षा (Monitor) कर सकते हैं। इस उपकरण के उपयोग करने से लाभ यह होगा कि यदि आपकी वेबसाइट में प्रदर्शन (Performance) से संबंधित कोई समस्या)/कठिनाई है तो समय रहते आप उसका निदान कर सकते हैं।

उपरोक्त उपकरणों की सबसे अच्छी बात यह है कि ये सब निःशुल्क हैं और इनके उपयोग पर आपको किसी प्रकार के व्यय की चिंता भी नही होगी।

VIRATS

Er. Chandan Singh Virat is an educator and the infrexa's bestselling author of six books. He was born in India and has lived most of his life in New Delhi. He believes that writing can change the world. He uses it to inspire and empower young people through his writing workshops. Mr. Virat is also the host and producer at the L-series Productions company. You can tweet him here @R_chandansvirat

3 thoughts on “How to boost your AdSense earnings”
  1. I read few posts on this website and I think that your web blog is really interesting and holds lots of excellent info.

  2. I know this if off topic but I’m looking into starting my own weblog and was
    curious what all is needed to get setup?
    I’m assuming having a blog like yours would cost a pretty penny?

    I’m not very internet smart so I’m not 100% certain.
    Any suggestions or advice would be greatly appreciated.

    Thanks

    1. Sir,
      Initially, you need to have your own domain, hosting, and theme. To know more about the top 10 best hosting providers please visit this page – https://wplions.com/top-5-web-hosting-companies-in-india-2021/

      Once you have the above 3 things you can easily install WordPress and start your own website/blog with the help of free web tutorials available on YouTube. However, if you still need any help our dedicated technical team is here to help you 24×7.

Leave a Reply

Your email address will not be published.